प्रयागराज में कोरोना वायरस की रफ्तार बेकाबू हो गई है और नई लहर सबसे बड़ी चुनौती बनकर सामने आई है. प्रयागराज में पहली बार 24 घंटे के भीतर एक हजार से अधिक कोरोना वायरस के केस दर्ज किए गए हैं. मंगलवार को जिला सर्विलांस अधिकारी के अनुसार प्रयागराज में कोरोना वायरस के 1084 मामले सामने आए हैं जबकि चार मरीजों की मौत भी संक्रमण के कारण हो गई है. अब मौत का आंकड़ा 413 तक पहुंच गया है.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज में महिला की गोली लगने से मौत, तंमचे को लेकर जांच जुटी पुलिस

जिला सर्विलांस अधिकारी बताया कि संक्रमितों के संपर्क में रहने वालों की भी जांच की जा रही. वहीं रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व एयरपोर्ट पर जांच तेज कर दी गई है. मंगलवार को प्रयागराज में 64 मरीजों को डिस्चार्ज भी किया गया है. जिलें में जगह-जगह मंगलवार को 8,363 लोगों के सैंपल लिए गए हैं.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज: माफिया से मिलीभगत में दरोगा समेत चार पुलिसकर्मी सस्पेंड, जाने पूरा मामला

बता दें कि 29 मार्च यानी सोमवार को जिले में 33 संक्रमित मिले थे. इसके बाद 30 मार्च को 60 लोग संक्रमण की चपेट में आए. होली के उत्साह में कोरोना नियमों की अनदेखी का खामियाजा 31 मार्च से ही दिखने लगा. इस दिन 213 संक्रमित सामने आए. एक अप्रैल को 222 व दो अप्रैल को 296 संक्रमित जांच में मिले. तीन अप्रैल को यह संख्या तेजी से बढ़ी और 396 पर पहुंच गई. इसके बाद चार अप्रैल को रिकार्ड 475 लोगों में कोरोना संक्रमण मिला. सात दिन में 33 से 475 की संख्या के पीछे दो गज की दूरी व मास्क नहीं पहनना सबसे प्रमुख कारण है. दिन पर दिन संक्रमितों की संख्या दोगुनी से 14 गुना तक बढ़ गई है. इसके बाद भी लोग बेपरवाह बने हैं. बाजार, दुकान, मॉल, कार्यालय समेत सभी सर्वाजनिक जगह पर हालात बदतर हैं.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *