झूंसी के कोतारी फिरोजपुर गांव निवासी पुरुषोत्तम भारतीय पुत्र राम सरन का शव गांव के ही एक बाग में आम के पेड़ से लटकता मिला. जानकारी पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. परिजनों ने गांव के ही तीन लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए शव सड़क पर रखकर जाम लगाने की कोशिश की. देर शाम पुलिस ने 3 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया.

कोतारी फिरोजपुर निवासी पुरुषोत्तम मजदूरी कर अपने परिवार चलाता था. रविवार सुबह गांव में ही एक आम के पेड़ से मफलर के सहारे पुरुषोत्तम की लाश लटकी मिली. पास में उसकी साइकिल भी पड़ी थी परिजनों ने गांव के ही 3 लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए बताया कि कुछ दिन पहले ही पुरुषोत्तम का उनसे विवाद हुआ था. जिसकी शिकायत पुलिस से की गई थी. पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की बात की. लेकिन सैकड़ों महिला और पुरुष हत्या का मुकदमा दर्ज कराने के लिए पूरे दिन थाने पर जमे रहे. पोस्टमार्टम के बाद लाश आई तो परिजन झूंसी थाने के निकट जीटी रोड पर शव रखकर रोड जाम करने लगे. पुलिस ने मुकदमा लिखने का आश्वासन देकर लोगों को समझा-बुझाकर लाश अंतिम संस्कार के लिए भेजी. देर शाम मृतक के बेटे सत्यम की तहरीर पर गांव के ही 3 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया. इंस्पेक्टर झूंसी नरेंद्र प्रसाद ने बताया कि पीएम रिपोर्ट में हैंगिंग आई है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *