यूपी के प्रतापगढ़ जनपद में मंगलवार की रात में पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। पुलिस को देख बदमाशों ने गोली चलाई। जवाबी फायरिंग में भाग रहे तीन बदमाशों को गोली लगी। वहीं बदमाशों की गोली से एक पुलिस कर्मी भी जख्‍मी हो गया है। पुलिस ने तीनों बदमाशों को पकड़ लिया है। वहीं तीनों घायल बदमाशों के साथ ही सिपाही को इलाज के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। पकड़े गए बदमाश पिछले दिनों सराफा व्‍यवसायी से 90 लाख की डकैती में शामिल थे। शहर के श्याम बिहारी गली में रहने वाले सुरेश सोनी की दुकान में सात जनवरी को बदमाशों ने डाका डाला था।

बदमाश 90 लाख रुपए के जेवर, 10 हजार रुपए नगद और एक मोबाइल लूट ले गए थे। इस घटना से पूरे शहर में सनसनी फैल गई थी । दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में पांच बदमाश कैद हुए थे। तीन बदमाश असलहे से लैस होकर दुकान में घुसे थे, जबकि दो बदमाश बाइक लेकर बाहर खड़े थे। इस घटना में रेकी करने वाले एक और युवक को चिन्हित किया गया था। पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही थी। सर्विलांस और अन्य स्रोतों से पुलिस ने बदमाशों का सुराग लगा लिया था। घटना का मास्टरमाइंड रुस्तम निवासी गोकुला थाना जेठवारा पाया गया था। वह पुलिस का दबाव पड़ने पर अपनी जमानत निरस्त करा कर प्रयागराज में कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। इस समय वह नैनी जेल में बंद है। पुलिस ने उसके साथियों को चिन्हित कर लिया था। उन सभी की तलाश में पुलिस संभावित ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही थी। इस बीच मंगलवार को रात करीब 3:00 बजे चेकिंग के दौरान शहर के रामलीला मैदान के पास बाइक सवार संदिग्ध पुलिस को दिखाई पड़े। पुलिस की टीम ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो बाइक सवार युवकों ने फायर कर दिया। जवाबी फायरिंग में बदमाश पुनीत सोनी निवासी अंत पुर थाना मांधाता, शुभम जयसवाल निवासी कोहरौड़ और फहीम सिद्दीकी निवासी नैनी प्रयागराज गोली लगने से घायल हो गए।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *