छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के वसना चकजनधरन गांव निवासी श्रवण कुमार (30वर्ष) कुछ महीनों पहले पत्नी पुष्पा (28वर्ष) और बच्चों के साथ ईट भट्ठे पर मजदूरी करने बलापुर गांव में आए थे. पुष्पा के पिता शिव कुमार भी साथ में आए थे. वह भी भट्ठे पर मजदूरी करते थे. कुछ समय पहले श्रवण कुमार बनारस में ट्रैक्टर चालक का काम करने चला गया था. 15 दिन पहले वह बनारस से यहां आया था। बुधवार देर रात श्रवण और पुष्पा में किसी बात को लेकर जमकर झगड़ा हुआ. इसके बाद दोनों घर से बाहर निकल गए. बाहर श्रवण ने पुष्पा की गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद उसने कंट्रोल रूम को फोन कर बताया कि उसने अपनी पत्नी को मार दिया है. खुद भी फांसी लगाकर जान देने जा रहा है. फोन पर उसे रोकने की कोशिश की गई लेकिन तब तक उसने फोन काट दिया था. इसके बाद श्रवण ने भी फांसी लगा ली.

गुरुवार की सुबह ग्रामीण ईंट भट्ठा के दो सौ मीटर दूर स्थित तालाब के पास गए तो श्रवण कुमार का शव पेड़ में दुपट्टे के फंदे से लटक रहा था और चंद कदम दूरी पर पुष्पा का शव झाड़ी में पड़ा था. सूचना मिलने पर पंहुची पुलिस ने दोनों शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए लिए भेज दिया. पुलिस प्रथम दृष्टया में घरेलू कलह को घटना की वजह मान रही है. हालांकि कुछ और बिंदुओं पर भी जांच की जा रही है. श्रवण और पुष्पा के मोबाइल कॉल डीटेल्स की भी पड़ताल की जा रही है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *