प्रयागराज: आए थे पढ़ने चलाने लगे गोली, अब खोज रही पुलिस

इलाहाबाद विश्वविद्यालय की गरिमा छात्रों की चाही और अनचाही हरकतों से धूमिल होती रहता है. बैंक रोड पर बुधवार दोपहर जो वारदात हुई वह तो महज एक घटना है. महज कचौड़ी खाने को लेकर दो हॉस्टल को छात्र आपस में भिड़ गए थे और जमकर मारपीट व फायरिंग की थी. घटना के कुछ देर बाद बैंक रोड पर ही मौजूद एक दुकान ने कहा कि आए थे पढ़ाई करने के लिए और चलाने लगे गोली. अब पुलिस उपद्रवी छात्रों को खोज रही है.

बात दें कि विश्वविद्यालय के ताराचंद हॉस्टल में रहने वाले सूरज पासी और सूरजभान वह हॉलैंड हॉल हॉस्टल के अंत:वासी राघवेंद्र सिंह समेत कई छात्र दोपहर में बैंक रोड पर स्थित एक दुकान में कचौड़ी खाने के लिए पहुंचे थे. राघवेंद्र का आरोप है कि उसने दुकानदार ने चावल मांगा. तब वहां मौजूद कुछ छात्रों ने कहा कि वह खुद उठकर ले ले. विरोध करने पर छात्रों ने अभद्रता शुरू कर दी. तब तक वहां कुछ और छात्र आ गए, जिसके बाद गाली-गलौज होने लगी. इसी बीच एक छात्र ने तमंचे से फायरिंग कर दी तो दूसरे पक्ष के छात्रों ने ईंट-पत्थर मारना शुरू कर दिया. इससे वहां अफरा-तफरी मच गई। हाथ के पंजे में गोली लगने से राघवेंद्र और सिर में ईंट-पत्थर लगने से सूरजभान व सूरज जख्मी हो गए. खबर पाकर कर्नलगंज पुलिस मौके पर पहुंची, मगर तब तक मारपीट करने वाले अधिकांश छात्र भाग चुके थे.

पुलिस ने जख्मी छात्रों का मेडिकल कराया और फिर देर रात दोनों पक्षों की तहरीर पर 12 नामजद समेत कई अज्ञात के खिलाफ मुकदमा कायम किया. दोनों ही पक्ष से पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन कई की तलाश जारी है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *