बारा क्षेत्र के टिकरी कला गांव में गुरूवार भोर में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और उसके प्रेमी को साथ देखकर बौखला गया. उसने पत्नी और उसके प्रेमी पर लोहे के राड से वार कर दिया. दोनों खून से लहुलुहान हो गए तो वह घर से भाग गया. घायल महिला और युवक को शहर में एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. पुलिस अधिकारियों ने मौके पर जाकर जांच पड़ताल की. फरार आरोपित की तलाश में पुलिस की एक टीम लगी है.

टिकरी गांव का रहने वाला गजराज सिंह टैक्सी चलाकर पत्नी आरती और पांच बच्चों के साथ गुजारा करता रहा है. उसका एक छोटा भाई मऊ के बरगढ़ में रहता है. इधर करीब साल भर से आरती का चित्रकूट के मऊ इलाके के चंदई गांव में सूरज पांडेय के घर आना जाना बढ़ गया था. सूरज खुद भी अक्सर आकर आरती के घर में ठहर जाता था. पति गजराज को आरती और सूरज की इस नजदीकी के बारे में पता चला तो उसने विरोध किया मगर उन दोनों का मिलना जुलना थमा नहीं. यहां तक कि सूरज की मां भी आकर आरती के पास रुकने लगी. इससे गजराज बौखलाया रहने लगा था. वह ऐतराज जताता तो झगड़ा होता लेकिन आरती और सूरज का रिश्ता बना रहा.

इधर दो-तीन दिन से सूरज आरती के घर में रूका हुआ था. बुधवार रात गजराज भी घर में था. आधी रात वह कहीं चला गया. भोर में घर लौटा तो आरती और सूरज को साथ देखकर बौखला गया. उसने लोहे का राड उठाकर दोनों पर ताबड़तोड़ कई वार कर दिए. दोनों के सिर, चेहरे, गर्दन पर घाव हो गए. वे दोनों खून से लथपथ होकर गिर गए. सुबह बच्चे जगे तो मां आरती और सूरज को लहूलुहान और बेसुध पड़ा देख बाहर जाकर शोर मचाया. गांव वाले जुट गए. घटना से सब स्तब्ध थे. इस घटना की खबर पुलिस को दी गई. बारा थाने की पुलिस के साथ ही एसपी यमुनापार और सीओ भी पहुंच गए. इस बीच आरती और सूरज को सीएचसी जसरा ले जाया गया जहां से हालत गंभीर देख एसआरएन अस्पताल भेज दिया गया. मां अस्पताल में और पिता के फरार होने से अब पांच बच्चे बेसहारा हो गए हैं. तीन बेटियां और दो बेटे को फिलहाल पड़ोसियों ने संभाल रखा है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *