प्रयागराज: मंगलवार को पुलिस ने फौजी हत्याकांड का खुलासा किया. पुलिस ने सात आरोपियों को हत्या और गैंगरेप के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों को दोनों मामलों में आरोपी बनाया गया है. हालांकि एक युवक गैंगरेप में शामिल था या नहीं था अभी पुष्ट नही हुआ है. एसपी सिटी बताया कि यह एक ब्लाइंड मर्डर केस था. प्रत्यक्षदर्शी रही युवती ने भी कई बयान देकर पुलिस को उलझा दिया था.

ये भी पढ़ें: सेना के जवान की हत्‍या के बाद महिला से हुथा सामूहिक दुष्‍कर्म, एक और आरोपी गिरफ्तार

धूमनगंज इंस्पेक्टर अरुण चतुर्वेदी, एसओजी प्रभारी शैलेष सिंह, करेली एसओ बृजेश सिंह और क्राइम ब्रांच की टीम ने महिला सिपाहियों की मदद से हत्या व गैंगरेप के आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने धूमनगंज के भागलपुरवा निवासी अजय भारतीय, सूरज, विकास भारतीय, कुलदीप भारतीया, बबलू, गुड्डू और छोटा उर्फ आकाश को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है. पुलिस के अनुसार 12 फरवरी की रात फौजी आशुतोष सिंह अपनी कार में युवती को सुनसान इलाके नीमसराय मैदान में ले गया था. फौजी के पास छोटा और कुलदीप पहुंच गए. दोनों ने फौजी से पूछताछ शुरू की तो विवाद हो गया. जिस पर फौजी ने दोनों को थप्पड़ जड़कर भगा दिया. इससे नाराज हुए छोटा और कुलदीप ने फोन करके अपने दोस्तों को बुलाया. कुछ ही देर में उनके पांच अन्य साथी भी वहां पहुंच गए और फौजी से फिर मारपीट शुरू हो गई. इस बीच किसी ने ईंट से सिर पर हमला कर दिया. हमले के बाद आरोपियों ने फौजी को मरा समझकर गाड़ी में रख दिया और युवती से गैंगरेप किया.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज में सेना के जवान की पीट-पीटकर हत्या, छुट्टी पर आया था घर

महिला सिपाही नीलम और सरिता ने आरोपियों को पकड़ने में अहम भूमिका निभाई. पुलिस के अनुसार दोनो महिला सिपाही को घटनास्थल पर बालू खरीदने के लिए भेजा गया था. वहां पूछताछ के दौरान ही एक क्लू मिला. जिसकी मदद से एक आरोपी पकड़ा गया. पूछताछ के बाद पुलिस ने एक-एक करके सभी सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *