जिले में यमुनापार के मांडा इलाके में शुक्रवार दोपहर एक दर्दनाक हादसा हो गया. मांडा क्षेत्र के मेहा जागीर के हरीश कुमार गुप्ता का बेटा बलराम (08) तथा राजेश आदिवासी का बेटा राहत (07) शुक्रवार को लगभग 11 बजे दिन में घर से निकले थे. दोनों ने बताया था कि वे वह होलिका लगाने के लिए जा रहे हैं. होलिका लगाने के बहाने घर से बाहर निकले दोनों बच्चे घर से सटे कोसडा खुर्द ग्राम पंचायत के भगौती गांव स्थित तालाब में नहाने चले गए. नहाते समय दोनों बच्चे गहरे पानी में चले गए और डूबने लगे. वहां मौजूद लोगों ने बच्चों को पानी में डूबते हुए देखा तो उनको बाहर निकाला गया. आनन-फानन में परिजन उन्हें मांडा सीएचसी ले गए जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. बलराम दो भाइयों में सबसे बड़ा था. मां सुशीला और पिता हरीश कुमार का रो-रोकर बुरा हाल हो गया. उधर राहत के परिजनों को घटना की जानकारी हुई तो राहत की बहन रागिनी, पिता राजेश और मां शन्नो देवी भी बिलखने लगे. मृतक बलराम गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में कक्षा 2 का छात्र था. उसके दादा अनुज कुमार ने बताया कि अगर वे जानते कि बच्चे होलिका लगाने के बहाने तालाब में नहाने जा रहे हैं तो शायद उन्हें रोक लेते. घटना की जानकारी मांडा थाने की पुलिस व एसडीएम कोरांव को दी गई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *