प्रयागराज: सरायइनायत थाने में सेफ्टी टैंक में सिर कटी लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई. सिर कटी यह लाश उसी घर के मालिक की निकली. उसकी बीवी ने अपने आशिक और उसके साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी. बता दें कि सरायइनायत थाना क्षेत्र के नसीरापुर गांव के रहने वाले मो. असलम उर्फ पप्पू (35वर्ष) पुत्र शहजादे पांच भाइयों में तीसरे नंबर पर था. असलम सऊदी अरब में सैलून में काम करता था. उसकी शादी 10 साल पहले रतौरा गांव की खुशबू से हुई थी. शादी के 2 साल बाद ही वह बीवी खुशबू को लेकर सरायइनायत थाने के पीछे कुआंडीह में मकान बनाकर रहने लगा था. असलम 4 महीने पहले घर आया हुआ था.

नसीरापुर गांव में रहने वाले भाइयों को जब असलम के गायब होने की खबर मिली तो उन्होंने खोजबीन शुरू की. असलम का कहीं पता न चलने पर उसका भाई रुस्तम भाभी खुशबू से पूछताछ करने लगा. खुशबू ने पहले असलम के कानपुर जाने की बात कही, फिर बाद में तरह तरह की बात कहती रही. जिसके बाद असलम के भाइयों के दबाव बनाने पर खुशबू ने 12 दिसंबर को सराइनायत थाने में शौहर के गायब होने की तहरीर दी. पुलिस ने भी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया. उन्होंने भाभी खुशबू को संदिग्ध मानते हुए पुलिस के उच्चाधिकारियों को प्रार्थना पत्र देकर मामले का खुलासा करने की गुहार लगाई.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज: सगे भाईयों ने किया मां-बेटे का कत्ल पुलिस ने किया खुलासा, प्रेंम प्रसंग के विरोध में दिया था वारदात को अंजाम

सीओ फूलपुर बताया कि असलम की हत्या की वजह आशनाई और प्रॉपर्टी है को बताया है. असलम ने नकदी, जेवर व मकान सब खुशबू के नाम किया था. बावजूद खुशबू का किसी और से सबंध था जिसके चलते उसका और असलम का अक्सर झगड़ा होता रहता था. हरदिन के झगड़े से तंग खुशबू ने अपने प्रेमी शमशाद के साथ मिलकर असलम को रास्ते से हटाने का सोच लिया. सीओ के मुताबिक, शमशाद ने अपने दो दोस्तों शनि निवासी तेलियरगंज और सरायइनायत के साहित के साथ मिलकर असलम की हत्या कर दी और फिर उसका सिर, हाथ, पैर काटकर धड़ घर के सेफ्टी टैंक में डाल दिया. एसपी गंगापार ने बताया कि आरोपियों ने असलम का सिर मेंहदौरी में और हाथ-पैर शिवकुटी के आसपास कहीं फेंका है. पुलिस तलाश में जुटी हुई है. फिलहाल चारों आरोपियों को पकड़ लिया गया है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *