नए यमुनापुल से गुरुवार सुबह एक महिला ने अपनी 13 वर्षीय बेटी के साथ यमुना में कूद गई. सूचना पर पहुंची़ जल पुलिस व गोताखोरों की मदद से महिला को निकाल लिया गया, लेकिन उसकी बेटी का कुछ पता नहीं चल सका. बेहोशी की हालत में महिला को पुलिस एसआरएन अस्पताल ले गई. जहां से सूचना पाकर पहुंचे परिजन महिला को इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल ले जाने लगे, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई.

कोरांव थाना क्षेत्र के भौहरिया, बेलवनिया गांव निवासी विजयलक्ष्मी (35) अपने पति विनय कुमार यादव, बेटी सुरभि यादव (13) व दो बेटों के साथ औद्योगिक क्षेत्र के रामपुर में किराए के मकान में रहती थी. वह अपने पति के साथ एक प्लास्टिक की बोतल बनाने वाली फैक्ट्री में काम करती थी. बुधवार शाम को पति से किसी बात को लेकर विवाद हो गया. इसके बाद वह अपनी 13 वर्षीय बेटी सुरभि को लेकर घर से निकल गई. गुरुवार को सुबह लगभग 11 बजे विजयलक्ष्मी अपनी बेटी सुरभि के साथ नए यमुना पुल के नैनी साइड पहुंची. वहां अपना शॉल रखकर बेटी संग नदी में छलांग लगा दी. नदी में मौजूद जल पुलिस और गोताखोरों की नजर उस पर पड़ी तो विजयलक्ष्मी को काफी मशक्कत के बाद पानी से बाहर निकाल लिया. विजयलक्ष्मी को पानी से बाहर निकालने तक उसकी सांसें चल रही थी. नैनी पुलिस विजय लक्ष्मी को इलाज के लिए एसआरएन अस्पताल ले गई. वहां सूचना पर पहुंचे परिजन उसे एक प्राइवेट अस्पताल ले जाने लगे, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही रास्ते में विजयलक्ष्मी ने दम तोड़ दिया. वहीं उसकी बेटी सुरभि का दिन डूबने तब नदी में तलाश कराई गई, लेकिन गोताखोरों को सफलता नहीं मिली. मामले में नैनी पुलिस का कहना है कि पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था, जिस कारण महिला ने अपनी बेटी संग नदी में छलांग लगा दी. उसकी बेटी का अभी पता नहीं चल सका है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *