प्रयागराज के हंडिया क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. शुक्रवार को भी एक व्यक्ति की मौत हो गई है. इसके साथ ही पिछले छह दिनों में मरने वालों का आंकड़ा 13 पहुंच गया है. पुलिस घरवालों से पूछताछ के लिए पहुंची है. मामले में अब तक इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिस वालों और तीन आबकारी कर्मियों को निलंबित किया जा चुका है. लगातार हो रही मौतों से जहां ग्रामीणों में रोष पनपने लगा है, वहीं पुलिस, प्रशासन और आबकारी विभाग की कार्यशैली पर सवाल भी उठने लगे हैं. ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए पुलिस के साथ पीएसी भी लगा दी गई है. वहीं, प्रतापगढ़ में मिलावटी शराब से चार लोगों की मौत मामले में आरोपित पिता-पुत्र को जेल भेज दिया गया.

प्रयागराज में हंडिया क्षेत्र के अमोरा गांव निवासी रामानन्द भारतीया 60 वर्ष की शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से मौत हो गई. रामानंद मजदूरी करते थे. बेटे श्याम बहादुर ने बताया कि गुरुवार को उनके पिता ने शराब पी थी. शुक्रवार सुबह तबीयत बिगड़ी तो पहले सीएचसी सैदाबाद ले गए, जहां से स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल रेफर कर दिया गया. वहां पहुंचने पर डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया. आरोप लगाया कि पिता ने गांव के ही एक शख्स से देसी शराब का पौवा खरीदकर पीया था. उधर, स्वरूपरानी नेहरू और बेली अस्पताल में भर्ती कराए गए लोगों का इलाज चल रहा है. एसपी गंगापार का कहना है कि रामानंद की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है. इससे पहले गुरुवार को हकीमपट्टी गांव को महिला समेत दो लोगों ने दम तोड़ा था. इधर स्वरूपरानी नेहरू और बेली अस्पताल में भर्ती कराए गए सात लोगों की हालत में मामूली सुधार है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *