डा. एके बंसल हत्याकांड का मुख्य आरोपी आलोक सिन्हा गिरफ्तार

प्रयागराजः एसटीएफ ने बुधवार शाम जीवन ज्योति ग्रुप आफ हास्पिटल के निदेशक रहे नामचीन लेप्रोस्कोपिक सर्जन डाक्टर एके बंसल हत्याकांड के मुख्य आरोपी आलोक सिन्हा को गिरफ्तार कर लिया. घटना के तकरीबन साढ़े चार साल बाद 50 हजार रुपये का इनामी आलोक एसटीएफ प्रयागराज के हत्थे चढ़ा. उसने हत्या के लिए शूटरों को 70 लाख की सुपारी दी थी. उसे फारच्यूनर कार में जाते वक्त प्रयागराज के ही कीडगंज इलाके में बुधवार दोपहर गिरफ्तार किया गया. पूछताछ में उसने कुबूला कि वह डाक्टर बंसल के बेटे का DM (nephrology) में दाखिला नहीं करा सका तो उन्होंने धोखाधड़ी का मुकदमा लिखाकर उसे जेल भिजवा दिया. इसी खुन्नस में उसने दिलीप मिश्रा की मदद से शूटरों को सुपारी देकर डाक्टर का कत्ल कराया था.

रामबाग स्थित जीवन ज्योति अस्पताल के निदेशक डा. एके बंसल को 12 जनवरी 2017 की शाम सात बजे उनके चैंबर के भीतर गोलियों से शूट कर दिया गया था. दो शूटर गोलियां मारने के बाद पिछले रास्ते से फरार हो गए थे. यह घटना प्रदेश भर में कई दिन तक सुर्खियों में रही. बता दें घटना के करीब सवा चार साल बाद अप्रैल महीने में एसटीएफ ने मामले का खुलासा करते हुए शूटर शोएब को गिरफ्तार किया था.

मुख्य आरोपी आलोक सिन्हा
मुख्य आरोपी आलोक सिन्हा

इसके बाद अन्य आरोपियों के साथ आलोक सिन्हा को नामजद किया गया था. शासन ने आलोक पर 50 हजार का इनाम भी घोषित किया था. एसटीएफ के डिप्टी एसपी नवेंदु कुमार ने बताया कि इंस्पेक्टर केसी राय टीम के उपनिरीक्षक वेद प्रकाश पांडेय और अनिल सिंह समेत अन्य जवानों के साथ शहर में निकले थे तभी खबर मिली कि डाक्टर बंसल हत्याकांड का मास्टर माइंड आलोक सिन्हा किसी अधिवक्ता से मिलने के लिए कीडगंज परेड मैदान की तरफ मिलने आया है। कुछ ही देर में एसटीएफ ने वहां घेराबंदी की और फिर फारच्यूनर कार के भीतर आलोक सिन्हा को दबोच लिया। उसके पास कुछ पैसे दो मोबाइल फोन और क्रेडिट कार्ड भी मिला

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *