प्रयागराज में रविवार दोपहर की बारिश के दौरान गिरी बिजली ने जान और माल का भारी नुकसान किया. आकाश में गरजते-चमकते बादलों के बीच से वज्रपात के दौरा प्रयागराज में 13 महिलाओं-पुरुषों और बच्चों की मौत हो गई. बड़ी संख्या में पशु भी मारे गए. इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत से हाहाकार मचा रहा. पुलिस-प्रशासनिक अफसर भी स्तब्ध रहे. वहीं कौशांबी जनपद में किशोरी समेत तीन लोगों जान चली गई है. प्रतापगढ़ में भी बारिश के दौरान वज्रपात से एक युवक की मौत हो गई.

एडीएम (वित्त एवं राजस्व) ने बताया कि रविवार शाम पांच बजे तक मिली सूचना के मुताबिक जनपद में 13 लोगों की जान वज्रपात से हुई. सोरांव तहसील में छह, बारा में तीन, कोरांव तहसील क्षेत्र में तीन और करछना में एक मौत की खबर मिली है. इस लिहाज से सबसे ज्यादा सात मौत यमुनापार इलाके में हुई है. वज्रपात की जद में आने से यमुनापार के कोरांव में तीन लोगों की जान चली गई. कोरांव थाना क्षेत्र के महुली में राम मूरत मिश्र की मौत हो गई. वह भाजपा के पूर्व मंडल अध्‍यक्ष राजेश मिश्र के चाचा थे.

इसी बीच भगेसर गांव में भी बिजली गिरने से 13 साल के रामराज पुत्र छैलबिहारी और 11 साल के पुष्पेंद्र कुमार पुत्र राजेश कुमार की जान चली गई. उसी दौरान शंकरगढ़ के करिया कला गांव में खेत में काम कर रहे किसान की वज्रपात ने जान ले ली. करछना में भी रोकड़ी गांव निवासी 55 वर्षीय त्रिभुवन नाथ पटेल की जान चली गई. वह खेत की मेड़ बना रहे थे तभी उन पर बिजली गई. बारा के लोहगरा केवटान बस्ती में खेत में पिता के साथ के साथ काम कर रहे 18 वर्षीय हरिश्चंद्र बिंद पुत्र किस्मत लाल की जान चली गई. बारा के ही रेरा में कमलेश कुमार बिंद की वज्रपात से मौत हो गई.

गंगापार इलाके में भी वज्रपात ने छह लोगों की जान ले ली. मऊआइमा के चक बाहर उर्फ नौगिरा गांव में रविवार की दोपहर बारिश के बीच वज्रपात हुआ. इसकी चपेट में आकर एक महिला की मौत हो गई. होलागढ़ इलाके के गढ़वा कमलापुर गांव में धान की रोपाई करते वक्त वज्रपात की चपेट में आने से संगीता पुत्री अमरनाथ पटेल की जान चली गई. नवाबगंज के सराय दादन गांव में 17 साल की रंजना देवी पुत्र राम खेलावन धान की रोपाई करते वक्त वज्रपात का शिकार हो गई.

सराय सुल्तान गांव में 18 साल की आरती सरोज पुत्री वकील सरोज भी वज्रपात की चपेट में आकर मारी गई. वह खेत में अपनी मां को खाना देकर लौट रही थी तभी अनहोनी हो गई. इसके अलावा जनपद में वज्रपात से बड़ी संख्या में गाय-भैंस और बकरी समेत मवेशी भी मारे गए हैं.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *