प्रयागराज: इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मंगलवार को यूपी सरकार को उन जिलों में कम से कम दो से तीन सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाने और लोगों की भीड़ 50 तक सीमित करने की संभावना तलाशने का निर्देश दिया जहां कोरोना वायरस तेजी से बढ़ रहा है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में उत्तर प्रदेश भी शामिल है. वायरस के प्रसार को रोकने के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में दो-तीन सप्ताह का पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार करने को कहा है

पीठ ने राज्य सरकार को अस्पतालों के लिए और अधिक संख्या में आईसीयू बेड खरीदने का निर्देश दिया. पीठ ने इस मामले की अगली सुनवाई की तारीख 19 अप्रैल तय करते हुए कहा, ‘हमें चुनाव से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी होगी और सरकार से मौजूदा स्थिति को देखते हुए सार्वजनिक स्वास्थ्य के हर विभाग को दुरुस्त करने की उम्मीद की जाती है.’सुनवाई के दौरान, कुछ वकीलों ने शिकायत की कि स्वास्थ्य अधिकारी कोरोना के कम मरीज दिखाने के लिए उचित तरीके से कोरोना की जांच नहीं कर रहे हैं और जांच के नमूने 12 घंटे से अधिक समय ले रहे हैं. अदालत ने अगली सुनवाई के दौरान प्रयागराज के जिलाधिकारी और सीएमओ को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए उपस्थित रहने का निर्देश दिया.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *