प्रयागराज के कर्जन ब्रिज पर बनेगी आर्ट गैलरी और म्यूजियम

प्रयागराजः फाफामऊ और शहर को जोड़ने वाला गंगा नदी पर अंग्रेजों के समय में बना कर्जन पुल को पर्यटन स्थलों की सूची में शामिल किया जाएगा. इस पुल पर आर्ट गैलरी-म्यूजियम का निर्माण किया जाएगा. पुल की क्षमता के आकलन और तकनीकी पहलुओं को लेकर मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (MNNIT) से रिपोर्ट मांगी गई है

बता दें लगभग 117 साल पुराने कर्जन पुल के सुंदरीकरण की बात कुंभ-2019 से पहले ही शुरू की गई थी लेकिन किसी कारणवश बात आगे नहीं बढ़ पाई थी. फिर इसके ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई. हालांकि, अब आर्ट गैलरी तथा संग्रहालय के रूप में तब्दील करने की योजना बनाई गई है. इसके लिए पर्यटन विभाग की रेलवे प्रशासन से वार्ता हो चुकी है.

यह पुल कितना भार सहन कर सकता है इसके आकलन की जिम्मेदारी MNNIT को दी गई है. इसके साथ ही तकनीकी सहयोग भी मांगा गया है. मंडलायुक्त संजय गोयल का कहना है कि इसका प्रस्ताव तैयार किया गया है. MNNIT की रिपोर्ट का इंतजार है. सकारात्मक रिपोर्ट रही तो औपचारिकताएं पूरी कर जल्द निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा.

बता दें पुल के दोनो हिस्से को शीशे से कवर किया जाएगा. पूरी तरह से वातानुकूलित इस गैलरी में कई अन्य आकर्षण भी होंगे. गैलरी में ऐतिहासिक दस्तावेजों, कलाकृतियां रखी जाएंगी. आर्ट गैलरी और म्युजियम का निर्माण पर्यटन विभाग की ओर से कराया जाएगा. इसके अलावा स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत भी बजट का इंतजाम किया जाएगा.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.