राष्ट्रीय जलीय जीव के साथ बर्बरता, ग्रामीणों ने डाल्फिन को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट

बृहस्पतिवार को शारदा सहायक नहर में दिखी डाल्फिन को ग्रामीणों ने पीटकर मार डाला. सूचना मिलने पर वन विभाग में हड़कंप मच गया. जानकारी होने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची. मछली को नहर से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम कराया गया. पुलिस ने उसका पंचनामा कर वन विभाग को सौंप दिया. हालांकि वन विभाग द्वारा डाल्फिन होने की पुष्टि नहीं की गई है.

नवाबगंज थाना क्षेत्र के कोथरिया गांव के पास से गुजरी शारदा सहायक नहर का पानी बुधवार को बंद कर दिया गया था. इसके चलते नहर में पानी कम हो गया था. सुबह ग्रामीणों ने नहर में एक बड़ी मछली घूम रही थी. मछली के आकार को देखकर लोगों में उत्सुकता जगी.

खबर फैलने पर लोगों की भीड़ जुटती गई. ग्रामीण उसे डाल्फिन बता रहे थे. साथ ही लोगों के लिए उसे खतरनाक बताया. इस बात का इतना असर हुआ कि लोगों की ने उसे पीट-पीटकर मार डाला. नहर में पानी कम होने के चलते डाल्फिन वहां से जा नहीं सकी. बाद में इसकी जानकारी वन विभाग को हुई तो रेंजर सहित अन्य लोग मौके पर पहुंचे. सूचना पर पुलिस भी आ गई.
पुलिस ने संरक्षित मछली मानते हुए उसका पंचनामा करना शुरू किया तो वन विभाग ने पशु अस्पताल के चिकित्सक को बुलाकर उसका पोस्टमार्टम कराया. पोस्टमार्टम कराने के बाद वन विभाग की टीम उसे दफनाने की तैयारी कर रही थी. वन रेंजर आरके सिंह ने बताया कि मछली की फोटो लखनऊ वेरीफिकेशन के लिए भेजी गई है.

सुबह उसके डाल्फिन होने की पुष्टि होने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. सीओ जितेंद्र सिंह ने बताया कि पीटकर मारने की बात गलत है. इसके लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है. वन विभाग जो तहरीर देगा, उसके हिसाब से कार्रवाई की जाएगी.

 

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *