प्रतापगढ़: सकरौली गांव में शुक्रवार दोपहर प्रतियोगी छात्र ने घर में फांसी लगा ली. सकरौली गांव निवासी उमाशंकर सरोज कंप्यूटर इंजीनियर हैं. वह पूना में प्राइवेट नौकरी करते हैं. उनका बड़ा बेटा अशोक सरोज (22वर्ष) स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्रयागराज शहर में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था. हाल ही वह घर आया हुआ था. शुक्रवार को वह दोपहर में करीब 12 बजे खाना खाने हाल में गया और अंदर से दरवाजा बंद करके सीलिंग फैन से फांसी लगाकर जान दे दी.

ये भी पढ़ें: पुल की रेलिंग तोड़ते हुए खाई में जा गिरा ट्रक, चालक व खलासी एसआरएन रेफर

करीब दो घंटे बाद उसकी मां सितारा देवी कामकाज निपटाने के बाद किचन की ओर गई तो दरवाजा अंदर से लॉक था. उन्होंने अशोक को आवाज दी तो अंदर से कोई जवाब नहीं आया. वह बाहर निकली और आस-पास के लोगों को बुलाया. लोगों ने पेंच निकालकर दरवाजे को खोला तो अशोक को फांसी के फंदे से लटका रहा था जिसे देखकर मां चीख पड़ीं. घटना की जानकारी पुलिस को दी गई. मोहनगंज चौकी इंचार्ज फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंचे. कुछ समय बाद कोतवाल व सीओ सिटी अभय पांडेय भी पहुंचे. सीओ ने अशोक की मां व आस-पास के लोगों से घटना का कारण जानना चाहा, लेकिन कोई कुछ नहीं बता सका. माना जा रहा है कि प्रतियोगी परीक्षा में सफल न होने पर अशोक ने फांसी लगाकर जान दी है. फिलहाल पुलिस शव पोस्टमार्टम के लिए भेजकर घटना के कारणों की जांच कर रही है. सीओ सिटी अभय ने बताया कि परिवार के लोग घटना का कारण नहीं बता सके हैं.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *