ढाई महीने अस्पताल में पड़ा रहा कोरोना पॉजिटिव का शव

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है. यहां केवल 15 हजार रुपए के लिए लगभग ढाई महीने तक कोरोना पॉजिटिव का शव हास्पिटल में पड़ा रहा. हालांकि NGO की मदद से शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया. बता दें मृतक युवक अप्रैल महीने में कोरोना पॉजिटिव आया था. इसके बाद उसको इलाज के लिए इलाज के मेरठ रेफर किया गया था. मेरठ के एक अस्पताल में इलाज के दौरान व्यक्ति की मौत हो गई थी.

इसके बाद अस्पताल द्वारा मृतक की पत्नी को शव देने के लिए 15 हजार रुपए की डिमांड की गई. मृतक की पत्नी के पास अस्पताल को देने के लिए 15 हजार रुपये नही थे. हालांकि महिला पैसों का इंतजाम करने के लिए वो हापुड़ आ गई. पैसों का इंतजाम नहीं हुआ तो वह अपने बच्चों को साथ लेकर अपने गांव चल गई. इस तरह से शव को अस्पताल में रखे हुए 2.5 महीने बीत गए.

जब ढाई महीने बाद भी अस्पताल में कोई शव लेने नहीं आया तो मेरठ अस्पताल ने उसे हापुड़ स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिया. स्वास्थ्य विभाग ने 3 दिन पहले शव को जीएस मेडिकल कॉलेज में रखवा दिया और प्रशासन के सहयोग से परिजनों की तलाश की. परिजनों का पता चलने पर शव उन्हें सौंप दिया गया. इसके बाद एनजीओ के माध्यम से शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *