प्रयागराजः जिले में बाढ़ का पानी घटने के बाद संक्रामक रोगों का खतरा तेजी से बढ़ रहा है. जिसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने खास तैयारी की है. बता दें प्रभावित इलाकों को तीन हिस्सों में बांटकर स्वास्थ्य सेवाएं दी जा रही हैं. आपदा नियंत्रण कक्ष के प्रभारी डॉ. संजय बरनवाल के अनुसार, बाढ़ प्रभावित इलाकों को करैली, रसूलाबाद व कैंट में बांटा गया है.

वही करैली में दो टीमें लगाई गई हैं, जबकि रसूलाबाद व कैंट में तीन-तीन स्वास्थ्य टीमें सक्रिय हैं. उन्होंने बताया कि एक टीम में डॉक्टर समेत छह स्टाफ है. टीमें डोर टू डोर सर्वे कर जरूरी दवा उपलब्ध करा रही हैं. व्यवस्था में किसी भी तरह की कोई दिक्कत न हो, इसके लिए सब नोडल अफसर भी बनाए गए हैं. बचाव के तरीके व जरूरी बातों के बारे में बताया जा रहा है.

बता दें बाढ़ हटने के बाद अब तक प्रयागराज में डेंगू के चार नए मरीज सामने आ चुके हैं, जबकि जुलाई से अब तक मलेरिया के 17 मरीज सामने आए हैं। बाढ़ प्रभावित सैकड़ों घरों में लोग बुखार और पेट की बीमारी से जूझ रहे हैं.

यहां कर सकते हैं संपर्कः

बाढ़ग्रस्त इलाकों के लोगों की मदद के लिए स्वास्थ्य विभाग ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं. किसी भी तरह की समस्या होने पर टोल फ्री नंबर 1070 पर संपर्क कर सकते हैं. इसके अलावा जिला कंट्रोल रूम के 0532-2641577 व 2641578 पर अपनी समस्या बता सकते हैं.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *