प्रयागराज में एक करोड़ रुपये की ठगी में दो बहनों संग पिता गिरफ्तार

प्रयागराजः कर्नलगंज पुलिस ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नवजीवन रोजगार योजना के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी करने के मामले में दो बहनों और उनके पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. पुलिस ने बताया कि फर्जीवाड़ा करने वाली महिला के खिलाफ प्रयागराज और वाराणसी में मुकदमा दर्ज है.

पुलिस ने बताया कि मम्फोर्डगंज की ज्योति सक्सेना के खिलाफ 2020 में शिवम तिवारी ने फर्जीवाड़ा करके लाखों रुपये हड़पने का मुकदमा दर्ज कराया था. इसके बाद 2021 में लूकरगंज की वर्तिका सिंघल ने ज्योति और उनकी बहन आशी और पिता राजेंद्र सक्सेना के खिलाफ एक करोड़ रुपये से अधिक की ठगी करने का मुकदमा दर्ज कराया था. आरोप था कि वर्तिका के जीडी मेमोरियल स्कूल में ज्योति शिक्षिका थी. 2016 में ज्योति ने नौकरी छोड़ दी. 2017 में में भारत सरकार की डिजिटलाइजेशन योजना के बारे में जानकारी दी. बताया कि प्रधानमंत्री नवजीवन रोजगार में निवेश करने पर लाखों का फायदा होगा.

वर्तिका ने अपनी फर्म और अन्य लोगों के नाम पर 2018, 2019 और 2020 में लाखों रुपये निवेश कराया। उन्होंने लाखों रुपये चेक और कैश दिए थे. आरोप है कि रुपये लेने के बाद उसने मूलधन भी नहीं लौटाया. इधर-उधर करके एक साल तक टालती रही. उसने जो चेक दिया, वह भी बाउंस हो गया. इसके बाद पीड़िता ने एफआईआर दर्ज कराई. इस केस के विवेचक इमरान खान ने शुक्रवार को तीनों को फर्जीवाड़ा करके लाखों रुपये हड़पने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि जेल जाने से पूर्व भी आरोपियों ने हंगामा किया था.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *