भाजपा सांसद एवं दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि सरकार किसानों का भला चाहती है. किसान आंदोलन के पीछे वो लोग हैं जिन्हें जनता ने नकार दिया है. प्रधानमंत्री एमएसपी से लेकर मंडी तक के मुद्दे पर लिखित आश्वासन देने को तैयार हैं लेकिन पूर्वाग्रह से ग्रस्त किसान नेता सुनने को तैयार नहीं.

मनोज तिवारी सोमवार को मेरा रोड के कुंवर पट्टी गांव में आयोजित शीतला महोत्सव में शामिल होने के लिए प्रयागराज आए थे. सर्किटहाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने खुलकर विचार रखे. उन्होंने कहा कि हम यदि गलती कर रहे हैं तो 2024 में जनता सजा देगी. मोदी ने किसानों को सालाना छह हजार रुपये, 5 लाख का नि:शुल्क इलाज और पक्का घर दिया है. किसान आंदोलन के नाम पर मोदी नहीं देश और भोले-भाले किसानों के खिलाफ साजिश हो रही है.

यूपी के बजट को लेकर अखिलेश यादव की प्रतिक्रिया पर मनोज तिवारी ने कहा कि बजट पर किसी गंभीर व्यक्ति को इतनी जल्दी कमेंट नही करना चाहिए. जनता ने उनको नकार दिया है इसलिए वो भ्रामक बातें कर रहे हैं. डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर कहा कि प्रधानमंत्री और पेट्रोलियम मंत्री स्वयं चिंतित हैं और कीमतें काबू करने की कोशिशें हो रहीं हैं.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज में बोले पूर्व सीएम अखिलेश यादव- 2022 में लहराएगा सपा का परचम

प्रयागराज आने पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक कार्यक्रम में कहा कि भाजपा सरकार में पैसा साफ हो गया पर गंगा नहीं साफ हुईं. इस पर भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि जो कभी मिनरल वाटर से नहाते थे वह आज गंगा नहा रहे हैं. प्रदेश व केंद्र सरकार गंगा के निर्मलीकरण के संकल्प को पूरा करने में लगी है. कांग्रेस, सपा और बसपा को भी सहयोग करना चाहिए. पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर भाजपा नेता ने कहा कि सरकार चिंतित है। जल्द ही कुछ किया जाएगा. वैकल्पिक ऊर्जा की दिशा में भी प्रयास हो रहा है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.