प्रयागराज में खतरे के निशान के पार हुई गंगा

प्रयागराज: जिले के कई इलाकों में गंगा और यमुना के बाढ़ का पानी लोगों के सामने मुसीबत बन गया है. यमुना और गंगा का जलस्तर बढ़ने से 30 से ज्यादा मोहल्लों में पानी भर गया है. खासतौर पर छोटा बघाड़ा में बाढ़ अब कहर बनकर टूट रहा है. सबसे ज्यादा परेशानी प्रतियोगी छात्रों को हो रही है. शनिवार के बाद रविवार को भी काफी संख्या में छात्रों ने घर वापसी की डगर पकड़ ली है. यहां बिजली सप्लाई ठप हो गई है.

ज्ञात हो कि गंगा नदी खतरे के निशान को पार कर गई है. दोनों नदियां साढ़े तीन सेमी. प्रति घंटे की रफ्तार से दोनों नदियां बढ़ रही हैं. प्रयागराज में आई बाढ़ से शहरी क्षेत्र के करीब 30 मोहल्ले प्रभावित हुए हैं. यहां छोटा बघाड़ा जैसे मोहल्ले तो पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं. इनके अलावा दरियाबाद, सलोरी, राजापुर, अशोकनगर बेली, नेवादा, म्योराबाद, शिवकुटी जैसे मोहल्लों में बाढ़ का पानी घुस गया है.

प्रयागराज गंगा नदीः 

  • फाफामऊ – 84.54 मीटर (बढोत्तरी जारी)
  • (खतरे का निशान-84.73 मीटर)
  • छतनाग – 83.77 मीटर (बढोत्तरी जारी)
  • (खतरे का निशान-84.73 मीटर)

प्रयागराज यमुना नदीः

  • नैनी -84.34 मीटर (बढोत्तरी जारी)
  • (खतरे का निशान-84.73 मीटर)   

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *