प्रयागराज पहले चरण में सहसों से रीवा तक बनेगी इनर रिंग रोड

प्रयागराजः संगम के आगामी कुंभ को देखते हुए NHI ने इनर रिंग रोड परियोजना को दो चरणों में बनाने के प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया है. बता दें कुंभ को देखते हुए प्रथम चरण में रीवा रोड से सहसों तक इनर रिंग रोड का निर्माण कराया जाएगा. शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग-दो पर प्रस्तावित इनर रिंग रोड परियोजना जिले के 155 गांवों से होकर गुजरेगी.

NHI  ने इस परियोजना को दो चरणों में पूरा कराने का खाका खींचा है. करीब 10 हजार करोड़ रुपये की इस इनर रिंग रोड का पहले चरण में निर्माण करीब 27 किलोमीटर होगा. इसके तहत आगामी कुंभ मेला के मद्देनजर रीवा रोड से इसकी शुरुआत की जाएगी. बता दें पहले कौड़िहार के कसारी गांव के पास NH-2 से इस रिंग रोड का निर्माण आरंभ होना था, लेकिन अब प्रारूप में बदलाव कर दिया गया है.

अब रीवा रोड से होकर जीटी रोड पर महुआरी, लवाइन कला होते हुए अंदावा के रास्ते इस रिंग रोड को आगे ले जाकर सहसों में मिलाया जाएगा. इसके बाद फिर इसे एनएच-2 से जोड़ दिया जाएगा. फाइनल प्रस्ताव के मुताबिक 68 किलोमीटर लंबी इनर रिंग रोड छह तहसीलों से होकर गुजरेगी. इनमें सदर तहसील के साथ सोरांव, करछना, फूलपुर, बारा व हंडिया तहसील के कुल 155 गांवों के किसान प्रभावित होंगे.

अफसरों के अनुसार, इस परियोजना के लिए एनएचएआई की ओर से 402 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहण करने का प्रस्ताव किया गया है. प्राधिकरण की कोशिश है कि इनमें रिहायशी इलाके कम से कम शामिल किए जाएं, ताकि परियोजना के निर्माण में लोगों के घर और प्रतिष्ठानों को नुकसान न पहुंचे

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *