IT head Sunil Jaiswal arrested in Prayagraj arrested

लखनऊ एसटीएफ ने प्रयागराज से एक साफ्टवेयर इंजीनियर(आईटी हेड) को गिरफ्तार है. यह एसटीएफ की बड़ी कामयाबी बताई जा रही है. उसके ऊपर आरोप है कि वह ऑनलाइन प्रॉपर्टी, फूड और क्रिप्टो करेंसी की ठगी का कारोबार करता है. पकड़े गए सॉफ्टवेयर इंजीनियर की पहचान सुनील जायसवाल के रूप में हुई है. वह पिछले 2 सालों से मल्टी लेवल मार्केटिंग के माध्यम से शाइन ग्रुप ऑफ कंपनीज और स्काई ओसियन के सीएमडी राशिद नसीम की कंपनी में आईटी हेड के रूप में काम कर रहा था. हाल ही में उसने चार वेबसाइटें तैयार की थी. जिनका वह स्वयं संचालन भी कर रहा था. दुबई में बैठा राशिद नसीम ही उसे निर्देशित करता रहता था.

शातिर आरोपी को पकड़ने के लिए स्पेशल टास्क फोर्स एसटीएफ लखनऊ और अमेठी जनपद के गौरी गंज थाने की पुलिस की संयुक्त टीम बनाई गई थी. उन्होंने प्रयागराज के नवाबगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत कौड़िहार के कसारी गांव में छापा मारकर सोमवार को सुनील कुमार जायसवाल पुत्र अयोध्या प्रसाद जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया. उसके पास से मोबाइल, लैपटॉप, चार एटीएम कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट और इंटरनेशनल एयर टिकट बरामद किया गया है.

एसटीएफ ने बताया कि इस मल्टीनैशनल कंपनी का एक बड़ा कारोबार प्रयागराज के यमुनापार इलाके के घूरपुर अंतर्गत कांटी में था. जहां वह साइन सिटी के नाम से अरबों रुपए का रियल स्टेट प्रोजेक्ट चला रहा था. लोगों से किस्त के जरिए पैसे लेकर वह प्लाटों की बुकिंग कर रहा था. इसके लिए व्यापक पैमाने पर प्रचार प्रसार किए गए थे. इसमें तकरीबन 500 से ज्यादा लोगों ने प्लाट बुक कराएं और ठगी के शिकार हुए हैं. अब तक की छानबीन में पता चला है कि गिरोह ने पूरे देश में अरबों रुपए की ठगी की है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *