प्रयागराज में पकड़ी गई नशीली दवाओं की बड़ी खेप

प्रयागराजः जिले में शुक्रवार को प्रयागराज पुलिस ने आस-पास के जिलों समेत, मध्य प्रदेश में अवैध तरीके से नशीली दवाओं की सप्लाई करने वाले दो लोगों को पकड़ा. जो आलू की बोरियों के पीछे नशीली दवाओं की खेप छिपाकर ले जा रहे थे. उनके महेंद्रा पिकअप वाहन में 60 कार्टून में लदी 9600 शीशी इस्कफ सिरप 100 एमएल शीशी में बरामद की गई.

करेली थाने की पुलिस ने शुक्रवार शाम को करेलाबाग बालू मंडी के समीप क्राइम ब्रांच की मदद से एक महेंद्रा पिकअप मालवाहक को पकड़कर तलाशी ली तो उसमें नशीली सिरफ की पेटियां आलू की बोरियों के पीछे छिपाकर रखी गईं थीं. करेली पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वह दवाओं की खेप एमपी के रीवा में ले जा रहे थे. दवाएं जिस पिकअप में ले जाई जा रही थीं, उस पर एमपी का ही रजिस्ट्रेशन नंबर लिखा था. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने यह दवाएं रामबाग से वाहन में लोड की थीं. हालांकि जब उन्हें लेकर पुलिस पहुंची तो वहां गोदाम नहीं मिला. पुलिस देर रात तक उनसे पूछताछ में जुटी रही लेकिन उन्होंने गोदाम का सही पता नहीं बताया.

पुलिस के अनुसार पकड़े गए तस्करों में सूरज रविदास पुत्र सुरेंद्र रविदास निवासी जलकल संस्थान, करैलबाग, करेली व प्रवीन श्रीवास्तव पुत्र स्वर्गीय श्याम जी श्रीवास्तव निवासी मीरापुर, अतरसुइया, प्रयागराज हैं. करेली पुलिस की सूचना पर औषधि निरीक्षक दिव्यप्रकाश मौर्य भी थाने पहुंचे. उन्होंने बताया कि सिपर पर लगे लेबल को देखने से पता चलता है कि यह इसमें कोडीन फॉस्फेट नामक तत्व है जो नारकोटिक्स ड्रग्स की श्रेणी में आता है. इसे बिना डॉक्टरी सलाह केनहीं बेचा जा सकता.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *