जिले के हंडिया थाना क्षेत्र के सैदाबाद में रहने वाले राहुल पटेल (22वर्ष) की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई. वह लहूलुहान हालत में घर से 200 मीटर दूर पड़ा मिला. परिजन उसे अस्पताल ले जा रहे थे, तभी रास्ते में उसकी सांसें थम गईं. खबर पाकर पहुंची पुलिस ने मौके पर निरीक्षण के बाद लोगों से पूछताछ की. पुलिस कई एंगल पर छानबीन कर रही है. कत्ल में रहस्य बना हुआ है.

सैदाबाद में नाथीपुर, हकीमपट्टी गांव के रहने वाले सुरेशचंद्र पटेल किसानी करते हैं. उनके दो बेटों में राहुल बड़ा था। वह पॉलीटेक्नक से डिप्लोमा करने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था. परिजनों ने बताया कि रविवार भोर में 3.30 बजे के करीब उसके पास किसी का फोन आया था. जिसपर वह चचेरे भाई अमन के साथ घर से निकला. अमन को कोचिंग पढ़ने जाना था, थोड़ी दूर तक दोनों साथ चले फिर अलग हो गए. राहुल यहां से अकेले ही जीटी रोड पर गया था कि जहां लगभग पांच बजे जीटी रोड के किनारे धारदार हथियार से उस पर हमला किया गया. फिर उसे झाड़ी में फेंक दिया गया. सुबह टहलने निकले युवकों ने उसे झाड़ी में पड़ा देखा. इसके बाद खबर फैली तो परिवार के लोगों के साथ गांव वाले वहां पहुंच गए। पुलिस भी पहुंच गई। खून से लथपथ राहुल को उठाकर सैदाबाद कस्बा स्थित एक निजी अस्पताल ले जाया गया वहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया. रास्ते में उसकी सांस थम गई. पुलिस ने कहा कि राहुल को किसी गाड़ी ने टक्कर मारी होगी जबकि परिस्थतियां इस घटना को कत्ल बता रही थीं.

बेटे की मौत से दुखी मां गुलाबी देवी का रो रोकर बुरा हाल था. माना जा रहा है कि राहुल को साजिशन भोर में फोनकर बुलाने के बाद मारा गया है. उसके मोबाइल की कॉल डिटेल में आखिरी नंबर डिलीट था. इसे भी कातिलों की करतूत माना जा रहा है. चर्चा रही कि राहुल का किसी लड़की से प्रेम संबंध था. इस पहलू पर भी पुलिस छानबीन कर रही है. हंडिया इंस्पेक्टर ने कहा कि हत्यारा कितना भी शातिर हो वह कानून को गुमराह कर सकता है लेकिन ज्यादा दिन बच नही सकता.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.