प्रयागराज: जिले में शुक्रवार की दोपहर कार में टक्कर लगने से नाराज कार सवार युवकों ने ई-रिक्शा चालकको अगवा कर लिया. इसके बाद कार सवार लेखपालों ने उसकी पिटाई कर दी. जानकारी मिलते ही पुलिस सक्रिय हुई और फिर कौशांबी के पूरामुफ्ती में कार सवार हमलावरों को पकड़ लिया गया.

बता दें कि करेली के गौस नगर मोहल्ले का रहने वाला नफीस अहमद का बेटा सालिम ई-रिक्शा चलाता है. शुक्रवार को दोपहर वो अपना ई-रिक्शा लेकर जार्जटाउन थाना क्षेत्र के लाउदर रोड पर स्थित एक अस्पताल के पास पहुंचा था. अचानक सालिम का ई-रिक्शा एक ब्रेजा कार से टकरा गया. पता चला कि टक्कर लगने पर कार सवार युवकों ने रिक्शा चालक के साथ गाली-गलौज करते हुए युवक को जबरजस्ती कार में बैठा लिया और भाग निकले. मामला देख एक शख्स ने पुलिस कंट्रोल रूम को घटना की सूचना दी. दिनदहाड़े अपहरण की खबर मिलते ही पुलिस की टीम हरकत में आ गई. तुरन्त जार्जटाउन, कर्नलगंज, धूमनगंज और क्राइम ब्रांच की टीम को कार पकडऩे के लिए लगा दिया गया.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज का दिव्यांग मुन्नू डेनमार्क परिवार में शुरू करेगा नई जिंदगी

प्रयागराज पुलिस ने कौशांबी पुलिस को खबर करते हुए पूरामुफ्ती इलाके में घेराबंदी की. कार के वहां पंहुचते ही कार सवारों को पकड़ लिया गया. ई-रिक्शा चालक ने पुलिस को बताया कि कार सवार युवकों ने उसे पीटते हुए पूरामुफ्ती तक ले गए थे. पूछताछ में पता चला कि आरोपित लेखपाल हैं. घटना के कुछ घंटे बाद थाने पहुंचे सालिम के भाई बब्बू ने तहरीर दी, जिसके आधार पर सभी के खिलाफ अपहरण का मुकदमा लिखा गया. जार्जटाउन कार्यवाहक थानाध्यक्ष ने बताया कि अभियुक्त मनीष झूंसी, महेश सोहबतियाबाग, कमला शंकर शंकरगढ़ और नवीन धूमनगंज का रहने वाला है.

 

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *