प्रयागराजः जिले के मेजा इलाके में लूतर मैदनिया गांव में बेखौफ दबंगों ने सनसनीखेज वारदात अंजाम दी. बेटी से छेड़खानी का विरोध करने पर उन्होंने माजिद अली (50वर्ष) की हत्या कर दी. शिकायत लेकर पहुंचने पर पहले लात-घूंसों से जमकर पीटा और फिर गला दबा दिया. किसी तरह बचकर गंभीर हालत में वो अपने दरवाजे तक पहुंचे थे कि तभी उनकी मौत हो गई. मृतक के बेटे की तहरीर पर आठ लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है.

माजिद घर पर ही रहकर खेती किया करते थे. उनकी 13 वर्षीय बेटी रविवार सुबह आम के बाग में गई थी. भाई मुमताज ने बताया कि इसी दौरान पड़ोस के माधव निषाद, कल्लू व गोलू ने जबरन उसकी बहन का हाथ पकड़ लिया. किसी तरह हाथ छुड़ाकर किशोरी घर आई और परिजनों को जानकारी दी. जिस पर पिता और छोटा भाई शिकायत लेकर एक आरोपी के घर गए. आरोप है कि वहां तीनों आरोपियों ने अन्य पांच लोगों के साथ मिलकर दोनों पर हमला बोल दिया. उन्हें लात-घूंसों से जमकर पीटा.

इसके बाद पिता का गला दबा दिया. किसी तरह आरोपियों के चंगुल से छूटकर वो घर के दरवाजे के पास पहुंचे थे कि वहीं गिर पड़े और कुछ ही देर में उनकी मौत हो गई. घटना की जानकारी पर पुलिस पहुंच गई. जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन तब तक वहां बड़ी संख्या में बस्ती के लोग जमा हो गए. मामला दो समुदायों से जुड़ा होने के कारण स्थिति तनावपूर्ण हो गई. घटना की सूचना पर कई थानों की फोर्स लेकर एसपी यमुनापार भी आ गए. उन्होंने परिजनों व ग्रामीणों को समझाया तब जाकर वह शांत हुए. इसके बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *