Prayagraj's IRS officer arrested with 16 lakh bribe

प्रयागराज जिले के कर्नलगंज के मूल निवासी आईआरएस अफसर शशांक यादव को राजस्थान में घूस के 16 लाख रुपयों के साथ गिरफ्तार किया गया है. एंटी करप्शन ब्यूरो ने कोटा में उनकी कार से मिठाई के डिब्बों में रखे 15 लाख रुपये, लैपटॉप बैग व पर्स से 1.32 लाख रुपये बरामद किए हैं.

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की कोटा यूनिट ने शशांक को उदयपुर हाईवे स्थित हैंगिंग ब्रिज टोल नाके के पास से पकड़ा. महाप्रबंधक की गिरफ्तारी की जानकारी मिलते ही रविवार को फैक्ट्री के कर्मचारियों और अधिकारियों में सन्नाटा पसर गया. हालांकि इस मामले में अफीम फैक्ट्री के अलावा जिले के आला अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं.

ले-देके दफा करने का दिया ऑफरः

बता दें देश में अफीम की दो फैक्ट्रियां हैं. एक गाजीपुर (यूपी) और एक नीमच (एमपी) में है. आईआरएस अफसर डॉ. शशांक यादव दोनों के जनरल मैनेजर हैं. नीमच की फैक्ट्री का उसके पास अतिरिक्त चार्ज है. जब कोटा में एसीबी ने उसे पकड़ा और रुपयों के बारे में पूछताछ की तो वो कोई जवाब नहीं दे पाया और बगल में ले जाकर रिश्वत का ऑफर किया और बोला-ले-देकर मामला यहीं रफा-दफा कर लो. इसपर अधिकारियों ने उसे कड़ी फटकार लगाई और गिरफ्तार कर लिया.

दलालों को मिलाकर किसानों से वसूलीः

कार्रवाई करने वाली एसीबी की ओर से बताया गया कि आरोपी अफसर के बारे में सूचना मिली थी कि दो कर्मचारियेां की मदद से वह घटिया क्वालिटी की अफीम को बढिय़ा बताकर ज्यादा पट्टे देकर प्रति किसान 60 से 80 हजार की वसूली कर रहे हैं. इनमें चित्तौडग़ढ़, कोटा, झालावाड़ के साथ ही प्रतापगढ़ के अफीम की खेती करने वाले किसान भी शामिल हैं. जो किसान रुपये नहीं देता, उसकी अफीम को घटिया बताकर उसके पट्टे कम कर देते थे. सटीक सूचना पर एसीबी की टीम ने सुबह 10.30 बजे के करीब उन्हें पकड़ा लिया.

अफसर जिस स्कॉर्पियो गाड़ी से जा रहा था, उस पर पुलिस का लोगो लगा हुआ मिला. स्कार्पियो के नंबर की जांच पड़ताल पर पता चला कि गाड़ी फिरोजाबाद आरटीओ में रजिस्टर्ड है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *