The clampdown on Prayagraj's mafia Atiq Ahmed

गुजरात के अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सांसद माफिया अतीक अहमद पर सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हत्या के दो मुकदमों में विशेष जज एमपी/एमएलए कोर्ट अनूप कुमार श्रीवास्तव ने अपर जिला शासकीय अधिवक्ता राजेश कुमार गुप्ता को सुनकर आरोप तय कर दिया.
बता दें 11 जुलाई 2016 को जितेंद्र कुमार की राजरूपपुर से एनसीआर की ओर जाते समय रास्ते में रोक कर हत्या कर दी गई थी. विशेष न्यायालय एमपीएमएलए ने पूर्व

सांसद अतीक अहमद पर 2016 में धूमनगंज क्षेत्र में हुई जितेंद्र कुमार उर्फ मुन्ना की हत्या के मामले में बलवा करने, सशस्त्र विधि विरुद्ध जमाव और हत्या तथा आपराधिक षडयंत्र का आरोप तय कर दिया है. इसी प्रकार से 25 सितंबर 2015 को मरियाडीह में अलकमा और सुरजीत की हत्या के मामले भी कोर्ट ने बलवा करने, विधि विरुद्ध जमाव और हत्या व आपराधिक षड्यंत्र के आरोप तय किए हैं। सुनवाई स्पेशल कोर्ट जज आलोक कुमार श्रीवास्तव ने की.

हालांकि जितेंद्र कुमार की मां सूरज कली व भतीजे हंसराज ने उस दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया था कि जितेंद्र हत्याकांड का मुख्य आरोपी उमेश पाल और उसका भाई है। लेकिन साजिश के तहत अतीक अहमद और अशरफ को फंसाया जा रहा है। हालांकि पुलिस ने अपनी विवेचना में सूरज के लिए आरोपों को गलत साबित करते हुए अतीक अहमद अशरफ व अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *