होमोसेक्सुअल बनकर ऑनलाइन ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए रजनीश यादव ने कई और लोगो को अपना निशाना बनाया था. अतरसुइया थाना क्षेत्र के मीरापुर मोहल्ले में रहने वाले एक व्यक्ति के घर जाकर उसका एटीएम कार्ड व दूसरी जानकारी हासिल करने के बाद खाते से रकम ट्रांसफर कर लिया था. हालांकि उस शख्स की रकम ज्यादा न होने के कारण पुलिस से शिकायत नहीं की थी. साइबर थाने की पुलिस को पूछताछ में यह पता चला है. अब पुलिस उसके मोबाइल से गैंग के दूसरे सदस्यों के बारे में जानकारी जुटा रही है.

इंस्पेक्टर साइबर थाना राजीव तिवारी ने बताया कि रजनीश जौनपुर जिले का रहने वाला है और वहीं के एक कॉलेज से बीए की पढ़ाई कर रहा है. ऑनलाइन गेमिंग के दौरान ही उसे रोमियो एप के बारे में पता चला और फिर उस पर अपनी प्रोफाइल तैयार की. इसके बाद ओल्ड एज, तलाकशुदा और अविवाहित लोगों को अपने जाल में फंसाना शुरू कर दिया.

कुछ ऐसा ही उसने झूंसी के एडीए कॉलोनी निवासी राजीव श्रीवास्तव के साथ भी किया था. रजनीश दिमाग का काफी शातिर है. वह वाट्सएप पर चैट और ऑनलाइन कॉल करके ही बात किया करता था, ताकि पुलिस की पकड़ में न आ सके. साइबर थाने की पुलिस ने जब उससे फोन पर बात की थी तो उसने चैलेंज देते हुए कहा था कि गिरफ्तार करके दिखाओ. तब उसे महज दो घंटे के भीतर ही पकड़ लिया गया था. बहरहाल, अब जांच में अन्य लोगों के बारे में पता लगाकर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की तैयारी हो रही है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *