Prayagraj Ganga-Yamuna Water Level

प्रयागराजः जिले में गंगा-यमुना के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है. पिछले छह दिनों से लगातार गंगा-यमुना का पानी बढ़ रहा है. जलस्तर बढ़ने से तटीय इलाकों के रहने वालों की चिंता बढ़ गई है. इधर सिंचाई विभाग ने भी अलर्ट जारी कर तटबंधों की निगरानी बढ़ाने का निर्देश जारी कर दिया गया है.

शुक्रवार को गंगा और यमुना के जलस्तर में प्रति घंटे एक सेटीमीटर की बढोतरी दर्ज की गई. इधर केन और बेतवा का भी प्रवाह तेज हो गया है. इसका सीधा असर यमुना के जलस्तर पर पड़ सकता है. सिंचाई विभाग के इंजीनियरों का कहना है कि दो दिनों तक गंगा-यमुना का जलस्तर तेजी से बढ़ेगा.

गंगा और यमुना में जलस्तर लगातार बढ़ने का कारण पहाड़ों पर हो रही बारिश और हरिद्वार, नरौरा और कानपुर बैराज से लगातार पानी छोड़ा जाना है. कानपुर बैराज से गुरुवार की सुबह से 1.94 लाख क्यूसिक पानी प्रति सेकंड छोड़ा जा रहा है. इसका असर संगम में दिख रहा है. जलस्तर बढऩे पर नदी किनारे की फसलें डूब गई हैं. जलस्तर बढ़ने से फाफामऊ, झूंसी, छतनाग, दारागंज क्षेत्र में कटान भी तेज हो गई है. कंट्रोल रूम के कर्मचारी ने बताया कि दो दिनों में दो मीटर से अधिक पानी बढ़ने का अनुमान है.

गंगा-यमुना का जलस्‍तर (30 जुलाई)

  • फाफामऊ – 78.73 मीटर
  • छतनाग – 75.70 मीटर
  • नैनी – 76.10 मीटर

खतरे का निशान- 84.73 मीटर

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.