पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार की सुबह 11 बजे ईस्टर्न डीएफसी के कंट्रोल रूम का वर्चुअल रुप से शुभारंभ करेंगे. इसके लिए एशिया के सबसे बड़े इस कंट्रोल रूम को सजाया गया है. इसी के साथ ही खुर्जा से भाऊपुर के बीच डीएफसी ट्रैक पर मालगाड़ी के संचालन को भी हरी झंडी दिखाएंगे.

केवल मालगाड़ी के संचालन के लिए लुधियाना से दानकुनी तक 1875 किलोमीटर का ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडो बनाया जा रहा है. कंट्रोल रूम प्रयागराज में सुबेदारगंज स्टेशन के पास 1525 वर्ग मीटर में बनाया गया है. यहीं से डीएफसी ट्रैक पर ट्रेनों का संचालन किया जाएगा. ऐसा ही दूसरा कंट्रोल रूप गुजरात के अहमदाबाद में बनाया जा रहा है. वहां से वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडोर दादरी से मुंबई तक के ट्रैक पर मालगाड़ी का संचालन होगा. तीसरा कंट्रोल रूम नोएडा में बनाया जाएगा. वह इन दोनों कंट्रोल रूम का वैकल्पिक होगा. अगर इन दोनों में से कोई एक फेल हुआ तो नोएडा से संचालन किया जाएगा. आधुनिक तकनीकों से युक्त इस कंट्रोल रूम से केवल संचालन ही नहीं, ट्रैक की गड़बड़ी की भी निगरानी होगी. पूरे ट्रैक में किसी भी तरह का फाल्ट आने पर यहां लगी मशीनें उसकी जानकारी देगी. फिर उस स्थल के निकट की पेट्रोलिंग टीम को भेजकर उसे ठीक कराया जाएगा. इस कंट्रोल रूम का ट्रायल हो चुका है. ऐसे ही खुर्जा से भाऊपुर तक 351 किलोमीटर के डीएफसी ट्रैक का भी ट्रायल पूरा हो चुका है. अब मंगलवार की सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाने के साथ ही कंट्रोल रूम का शुभारंभ करेंगे. इस आयोजन में रेलमंत्री पीयूष गोयल, प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वर्चुअली जुड़ेंगे. जबकि सांसद डा. रीता बहुगुणा जोशी, सांसद केसरी देवी, राज्य सभा सदस्य कुंवर रेवती रमण आदि मौके पर उपस्थित रहेंगे.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *