Woman throws one year old innocent from moving train outside Prayagraj

प्रयागराजः जिले के छिवकी रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को एक महिला ने चलती ट्रेन से अपने एक साल के मासूम को नीचे फेंक दिया. यह देख पति फौरन ट्रेन से कूदा और जख्मी बच्चे को रेलवे पुलिस की मदद से अस्पताल ले गया. इस घटना से जंक्शन पर हड़कंप मचा रहा. मौके पर पहुंची जीआरपी ने बच्चे का उपचार कराया. बताया जाता कि महिला मानसिक रूप से बीमार चल रही है. जीआरपी ने कंट्रोल रूम को सूचना देकर चुनार में ट्रेन महिला को नीचे उतरवाया.

पुलिस ने बताया कि मीरजापुर का एक शख्स मुंबई में नौकरी करता है. कोरोना की दूसरी लहर फैलने पर वह घर लौट आया था. अब वह वापस रोजगार के लिए मुंबई जा रहा था. गुरुवार सवेरे वह पत्नी और साल भर के बेटे के साथ जनता एक्सप्रेस में बैठकर मुंबई के लिए रवाना हो गया. ट्रेन सुबह करीब पौने आठ बजे छिवकी जंक्शन से गुजर रही था तभी ट्रेन में बैठे पति-पत्नी के बीच किसी बात पर कहासुनी हो गई. गुस्से में आकर पत्नी ने साल भर के अपने दुधमुंहे बेटे को उठाया और खिड़की से बाहर फेंक दिया.

यह वाकया देखकर बोगी में मौजूद लोग सन्न रह गए. पति तेजी से उठकर भागा और चलती ट्रेन से बाहर कूद गया. उस वक्त ट्रेन की रफ्तार भी धीमी थी. रेलवे ट्रैक पर रोते पड़े बेटे को उसने उठाया. उसके सिर पर चोट पहुंची थी। हालांकि गनीमत यह रही कि चोट हल्की थी. बच्चे का प्राथमिक उपचार कराया गया, हालांकि उसको ज्यादा चोट नहीं आई है और उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *