राजस्थान में प्रतापगढ़ जिले से रोंगटे खड़े कर देने वाला मामला सामने आया है. जिले के अरनोद थाना क्षेत्र के जाम्बुखेड़ा गांव में युवक ने अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करते हुए खुद की पत्नी को पिछले 3 माह से 30 किलो वजनी जंजीर से बांध कर रखा हुआ था. महिला का नाम जीवा बाई है

इस बात की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची तो महिला को लोहे की जंजीर से बांधा हुआ पाया गया. पुलिस ने महिला को लोहे की जंजीर से आजाद करवाया और महिला के पुत्र को सुपुर्द कर किया. पुलिस ने बताया कि भैरुलाल पिता नन्दा जाति मीणा निवासी जाम्बुरेल थाना अरनोद अपनी ही पत्नि के चरित्र पर संदेह कर रहा था. सन्देह के चलते करीब तीन महीने से लोहे की जंजीर से अपने केलुपोश मकान के पास एक कच्ची टापरी में उसको बांध रखा था. भैरूलाल उसे लगातार मानसिक प्रताड़‍ित कर काफी परेशान कर रहा है.

पीड़‍ित मह‍िला ने बताया क‍ि उसका पति शराब पीकर मेरे ऊपर शंका करता था कि तेरे किसी के साथ अवैध संबंध हैं, इसलिए मुझे काफी प्रताड़‍ित कर रहा है. होली के त्यौहार के दो-तीन दिन बाद से मेरे पति भैरूलाल, मेरा लड़का राजू व मेरे परिवार के अन्य सदस्यों ने मिलकर मुझे करीब 30 किलो वजनी लोहे की सांकल से बांध दिया. उसके बाद से मैं कच्ची टापरी में रहती हूं.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *